Language

शिवसृष्टि – एक प्रस्तावित महापरियोजना

पुढे पहा

“शिवसृष्टि” की रचना, परंपरा और विरासत का पूरा ध्यान रखते हुए की जा रही है| इतिहास के पन्नों में विलीन स्थापत्य शास्त्र और वास्तु-कला का यह अभिनव प्रदर्शन, लोगों को एक अनोखी समय यात्रा का अनुभव देगा जो अपने आप में अभूतपूर्व होगा|..

शिवसृष्टी का निर्माण

पुढे पहा

प्रतिष्ठान के संस्थापक श्री. बळवंत मोरेश्वर पुरंदरे जिन्हें दुनिया बाबासाहेब पुरंदरे के नाम से जानती है, शायद आज के युग में शिवाजी महाराज के सबसे बड़े भक्त रहे हैं| १९७४ में, शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक की तीसरी शताब्दी (तीन सौ साल) पूरी हुई | इस ऐतिहासिक घटना को अंकित करते हुए बाबासाहेब की अध्यक्षता में प्रतिष्ठान ने मुंबई के शिवाजी पार्क में एक बहु आयामी प्रदर्शनी के रूप में भव्य समारोह का आयोजन किया|..